Be AwareYT

motivational and inspirational biography in hindi, success story in hindi, amazing and interesting facts in hindi, odd and weird facts, rochak tathya,

Wednesday, 20 May 2020

What The Connection Of Kailash Parvat And Pyramids | Kailash Parvat Shocking Mysteries

What The Connection Of Kailash Parvat And Pyramids | Kailash Parvat Shocking Mysteries | Mount Kailash Mystery

आज के इस वीडियो में हम जानेंगे भगवान शिव के घर, कैलाश पर्वत के बारे में। कैलाश पर्वत को लेकर बोहोत सारी ऐसी बातें है जो आज तक अनसुलझे और रहस्यों से भरे हुए है। जिसे आज तक वैज्ञानिक भी नहीं समझ पा रहे है। कैलाश पर्वत और पिरामिड्स का क्या कनेक्शन है और तो कैलाश पर्वत माउंट एवरेस्ट से छोटा रेहेने के बावजूद आज तक इस पर कोई क्यूं नहीं चढ़ पाया ? और ये 6666 का क्या रहस्य है ये भी जानेंगे। तो चलिए जानते है रहस्यमई कैलाश पर्वत के बारे में। 

kailash parvat, mount kailash, kailash parvat mystery, mount kailash mystery, mysterious, mysteries, hindi mysteries, Kailash Parvat Mystery in hindi,


Kailash Parvat Mystery In Hindi

कैलाश पर्वत तीबेट के transhimalaya में स्तिथ है और तिबेट चाइना के अधीन है तो कैलाश पर्वत चाइना में आता है। कैलाश पर्वत को हिन्दू, बौद्ध और जैन धर्म के अनुसार बहोत ही पवित्र माना जाता है और कैलाश पर्वत सबसे पवित्र पर्वतों में से एक है।


Time Flies On Kailash Parvat

कैलाश पर्वत की सबसे बड़ी रहस्य है समय। ये देखा गया है कि को कोई भी कैलाश पर्वत पर चढ़ने की कोशिश करता है तो, खासकर उसके नाखून और बाल बोहोत ही कम समय में तेजी से बढ़ने लगते है। और ये समय की रफ्तार बढ़ने की वजह से होता है। कैलाश पर्वत पर बिताया 12 घंटा पृथ्वी के 2 हफ्तों के बराबर है यानी कैलाश पर 1 दिन पृथ्वी के 1 महीने के बराबर है। साइबेरिया के एक माउंटेनियर बताते है कि उनके पहेचान के एक माउंटेनियरिंग ग्रुप ने जब कैलाश पर्वत पर चढ़ने की कोशिश की और कुछ लंबे समय तक चढ़ने के बाद जब उन्होंने एक दूसरे के तरह देखा तो वो चौक गए, क्युकी उनकी उम्र कई साल बढ़ गई थी और वो सारे माउंटेनियरस् अगले साल ही मर गए और मरने का कारण था बुढ़ापा।

kailash parvat, mount kailash, kailash parvat mystery, mount kailash mystery, mysterious, mysteries, hindi mysteries, Kailash Parvat Mystery in hindi,


6666 Mystery

अब क्या है ये 6666 का रहस्य बताता हूं। कैलाश पर्वत, नॉर्थ पोल, इंग्लैंड के स्टोनहेंज, इजिप्ट के पिरामिड, USA का डेविल्स टॉवर, नॉर्थ अंतलांटिक का बरमूडा ट्राएंगल, इस्टर आइलैंड का अतिमानव मूर्तियां, इन सबका आपस में अजीब कनेक्शन है। साल 2003 में नोबेल प्राइज जितने वाले प्रोफेसर K. Figalman कि वजह से हम इनके कनेक्शन्स के बारे में जान पाते है। क्या है वो कनेक्शन आयिए जानते है। कैलाश पर्वत से नॉर्थ पोल 6666 किलोमीटर, कैलाश पर्वत से स्टोनहेंज 6666 किलोमीटर, इजिप्ट के पिरामिड से नॉर्थ पोल 6666 किलोमीटर, स्टोनहेंज से डेविल्स टॉवर, स्टोनहेंज से बरमूडा ट्राएंगल इन सबके आपस में डिस्टेंस 6666 किलोमीटर है। अब ये तो कोई coincident तो नहीं हो सकता।


Kailash Parvat Is Still Unclimbed

कैलाश पर्वत की ऊंचाई 6638 मीटर है और माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई 8848 मीटर है और इसकी तुलना में  कैलाश पर्वत 2210 मीटर कम ऊंचाई पर हे फिर भी आज तक इस पर्वत पर कोई भी चढ़ नहीं पाया है। जबकि माउंट एवरेस्ट पर आजतक 7 हजार से भी ज्यादा लोग चढ़ चुके हे। एसाभी नहीं हे की किसीने यहाँ पर चड़ने की कोशिस नहीं की हैे। बोहोत से लोगो ने इस पर चढ़ने कि कोशिश की है पर कोई भी चढ़ नहीं पाया है। Russia के माउंटेनियर Sergei Cistiakov (सर्गेई सिस्टियाकोव) ने जब इस पर्वत पर चढ़ने की कोशिस की तो हर बार पर्वत पर चढ़ते वक्त उनका दिल तेजी से धड़कने लगता था और फिर उन्होंने इस पर्वत पर चढ़ने का ख्याल छोड़ ही दिया।

kailash parvat, mount kailash, kailash parvat mystery, mount kailash mystery, mysterious, mysteries, hindi mysteries, Kailash Parvat Mystery in hindi,


एसा ही कुछ हुआ था Colonel RC Wilson के साथ भी और बाद में उन्होंने भी माउंट कैलाश पर चड़ने का ख्याल छोड़ दिया। ऐसा माना जाता है कि इस पर्वत पर वहीं इंसान चड सकता है जिसने कभी पाप नहीं किया हो। और उसे वेद और पुराणों का संपूर्ण ज्ञान पता हो। लोगो का ये केहेना है कि जब वो इस पर्वत पर चढ़ने की कोशिश करते है तो उनको अचानक अंदर से ऐसा महसूस होता है कि उन्होंने ज़िन्दगी में ना जाने कितनी गलतियां कि है। और उस ऐसा लगता है कि नहीं इस पर नहीं चड़ना चाहिए इस लिए कैलाश पर्वत पर कोई चढ़ नहीं पाता। जो कोई इंसान भी इस पर चड़ता है या तो वो अपना रास्ता भटक जाता है या उसकी तब्बेत खराब हो जाती है। और इन्हीं सभी कारणों की वजह से आज तक कैलाश पर्वत पर कोई भी नहीं चढ़ पाया है।


Kailash Parvat Is A Pyramid ?

रशिया के साइंटिस्ट Dr. Ernst Muldashev और उनकी टीम, जो कैलाश पर्वत पर रिसर्च कर रहे थे। उनकी टीम में geologists, physists aur historial bhi the और उनका ये मानना था कि कैलाश पर्वत मानव द्वारा निर्मित एक पिरामिड है। जिसका संबंध गीजा के पिरामिड और मेक्सिको के देवती हुकान पिरामिड से जुड़ा हुआ है और उन सबको ये लगा कि कैलाश एक पिरामिड ही नहीं बल्कि और भी छोटे छोटे पिरामिड से घिरा हुआ है। Dr. Muldashev और उनकी टीम जब कैलाश पर्वत के नीचे कैंप करके रिसर्च कर रहे थे, तब उन्हें बोहोत ज़ोर की आवाज़ आती है हवा चलने की पर बाहर सब शांत था। Dr Muldashev केहते है कि वो आवाज़ पर्वत के अंदर से आ रही थी जैसे मानो पर्वत सांस ले रहा था। सिर्फ इतना ही नहीं एक रात उन्हें एक बड़ा पत्थर गिरने की आवाज़ आयि, पर कहीं बाहर से नहीं वो आवाज़ पर्वत के अंदर से का रही थी।



और ऐसे ही ना जाने कैलाश पर्वत से जुड़े कितने रहस्य है। Kailash Parvat Mystery In Hindi कैसी लगी ?, मुझे comment  में ज़रूर बताना और तोइस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर ज़रूर करना। तो, चलिए दोस्तो, मिलते है और एक ऐसे ही पोस्ट के साथ तब तक के लिए जय हिन्द वन्दे मातरम्।


और BeawareYT YouTube channel को Subscribe ज़रूर करना, ऐसे ही mysterious videos देखने के लिए। 


No comments:

Post a comment