Be AwareYT

motivational and inspirational biography in hindi, success story in hindi, amazing and interesting facts in hindi, odd and weird facts, rochak tathya,

Tuesday, 17 December 2019

Kailash Kher Biography in Hindi | Bollywood Singer | Kailash Kher Success Story in Hindi

Kailash Kher Biography in Hindi | Bollywood Singer | Kailash Kher Success Story in Hindi

Kailash Kher Biography in Hindi | Bollywood Singer | Kailash Kher Success Story in Hindi
Kailash Kher Biography in Hindi | Bollywood Singer | Kailash Kher Success Story in Hindi

    बॉलीवुड के चर्चित सिंगर कैलाश खैर आज अपने आवाज के जादू से किसका भी दिल चुरा सकते है | लेकिन एक समय ऐसा भी था जब उनके आवाज को कोई भी सुनना नही चाहता था | तो आईये जानते है मशहूर बॉलीवुड सिंगर कैलाश खैर के जीवन के बारे में |


     कैलाश खैर का जन्म 7 जुलै 1974 को उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में हुआ | कैलाश को संगीत मानो जैसे विरासत में मिली हो | उनके पिता का नाम पंडित मेहरसिंग खैर था और वे पुजारी थे | और अक्सर घरों में होने वाले events में traditional folk songs गाया करते थे | कैलाश को संगीत उनके पिता ने ही सिखाई है और कैलाश ने बचपन में पिता से संगीत की शिक्षा भी ले ली थी | और आपको जानकर ताज्जुब होंगा की कैलाश कभी भी बॉलीवुड गाने सुनना पसंग नही करते थे और ना ही सुना करते थे | मगर उनको संगीत से लगाव तो काफी था | 



     कैलाश जब 13 साल के थे तब वो संगीत की शिक्षा लेने के लिए घर वालो से लड़कर दिल्ली आ गये | दिल्ली में रहते हुए 1999 तक कैलाश ने अपने एक family friend के साथ मिलकर export का business करने लगे | पर इसी साल उन्हें इस कारोबार में इतना बड़ा घाटा हुआ की वो अपनी सारी जमा पूँजी गवा चूके थे | इसी वक्त कैलाश इतने depression में चले गए की वो जिंदगी से तंग आकर suicide करना चाहते थे | बाद में इन सबसे किस तरह से निकले के बाद कैलाश पैसे कमाने के लिए Singapore और Thailand चले गए | 



     जहा 6 महीने रहने के बाद वापस भारत आकर Rishikesh (Uttarakhand) चले गए और कुछ दिनों तक वही रहे | वहा वे साधु संतों के लिए गाना गाया करते थे | कैलाश के गाने को सुनकर बडा से बडा संत झूम उठता था | जिससे कैलाश का खोया हुआ विश्वास वापस आया और वो मुम्बई चले गए | मुम्बई आने के बाद कैलाश ने काफी गरीबी में दिन गुजारे, कैलाश वहा कोई घर में नही बल्कि चॉल में रहते थे | उनकी हालत एैसी थी वो इसी बात से पता चलता है की उनके पास पहन ने के लिए सही चप्पल भी नही थी | वो अपनी टूटी चप्पल ले 24 घंटे Studio के चक्कर लगाते रहते ताकि कोई तो उनकी आवाज को सुने और उनको गाने का एक मौका दे दें | 



     एक दिन राम संपत ने उन्हें Ad का jingle गाने के लिए बुलाया जिसके लिए उन्हें 5000 रुपये मिले | तब 5000 रुपये भी कैलाश को बहुत ज्यादा लगे और इनसे उनका कुछ दिन का काम चल गया | कैलाश ने मुंबई में कई सालो तक struggle करने के बाद फिल्म andaaz से उन्हें break  मिला | इस फिल्म में कैलाश ने “Rabba Ishq Na Hove” में अपनी आवाज दी | लेकिन कैलाश के किस्मत का तारा तब चमका जब उन्होंने फिल्म Waisa Bhi Hota Hai में “Allah Ke Bande” गाने में अपनी आवाज दी | जो की आज तक कैलाश के hit songs में से एक है | कैलाश खैर ने अब तक 18 भाषावो़ में गाने गा चुके है | 300 से अधिक गाने कैलाश ने सिर्फ बॉलीवुड में गाये है | कैलाश को अपने गाने के लिए डर्जेनो अवार्ड मिल चुके है | और उनके singing career का सबसे मशहूर गाना है “Teri Deewani” क्या आपका भी favorite है comment में जरूर बताना | 



  तो दोस्तों कैसी लगी आपको कैलाश खैर की inspirational biography ? Comment में जरूर बताना और इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर share करना | मिलते है और एक ऐसे ही पोस्ट के साथ तब तक के लिए जय हिंद वंदे मातरम् |


No comments:

Post a comment