Be AwareYT

motivational and inspirational biography in hindi, success story in hindi, amazing and interesting facts in hindi, odd and weird facts, rochak tathya,

Tuesday, 1 October 2019

Bear Grylls Biography in Hindi // Motivational Success Biography in Hindi

Bear Grylls Biography in Hindi // Motivational Success Biography in Hindi


Bear Grylls Biography in Hindi // Motivational Success Biography in Hindi
Bear Grylls Biography in Hindi // Motivational Success Biography in Hindi


     Bear Grylls नाम सुनते ही आपके दिमाग में Discovery Channel पर प्रसारित होने वाला शो Man Vs. Wild आ जाता है | जो अपने survival tips की मदद से सुनसान वीरान बीहडो़ में जिन्दा रहने की तकनीक सिखाता है | Man Vs. Wild में दिखाए गये अपने survival tips की मदद से ना केवल पश्चिमी देशों बल्कि पूरे विश्व में अपनी एक अलग छवि बना ली है | इस शो में Bear Grylls खुद मुश्किल हालातों में फसकर उन हालातों से बाहर निकलने की तकनीक सिखाते है | जिसके कारण कई लोगों ने ऐसे हालातों में अपनी जान बचाई है | आर्मी की ट्रेनिंग लेने के बाद कुछ सालो तक आर्मी में काम करने के दौरान उन्होंने मुश्किल हालातों में बचने की कई तकनीक सीखी और कई ईजाद भी की, जो बाद में उन्होंने अपने इस शो के जरिये पुरी दुनिया को दिखाई | आईये आज हम उसी हौसला देने वाले नौजवान Bear Grylls के जीवन के बारे में विस्तार से जानते है |


     Bear Grylls का जन्म 7 जून 1974 को उत्तरी आयरलैंड के दोनाघाडी कस्बे में हुआ था | Bear का असली नाम वैसे एडवर्ड माइकल ग्रील्स है लेकिन जब वो केवल एक सप्ताह के थे तब से उनकी बहन ने उनको Bear कहकर पुकारती थी जिसे बाद में उन्होंने अपना मुख्य नाम बना लिया था | Bear Grylls ने उपनी प्रारम्भिक शिक्षा Ludgrove School और  Eton College से ली थी जहाँ से ही उन्होने सबसे पहले mountaineering club में हिस्सा लिया था | आपको जानकर ये भी ताज्जुब होंगा की bear ने University Of West Bengal से भी डिग्री प्राप्त की है | 


     स्कूल छोडने के बाद Bear Grylls वैसे तो इंडियन आर्मी में शामिल होना चाहते थे ताकि वो हिमालय पर्वत पर चढ़ाई कर सके लेकिन बाद में स्कूल पुरी करने पर उन्होंने अपने प्रदेश की आर्मी को ज्वाइन कर लिया | 


     1996 में जाम्बिया में उनके साथ एक पैराशूट दुर्घटना हुई | इस दुर्घटना में 4900 मीटर की उँचाई पर जब उन्होंने पैराशूट खोलना चाहा तो वो पुरी तरह नही खुला, जिसकी वजह से वो बुरी तरह से चट्टानों पर गिर पडे़ और उनकी तीन रीढ़ की हड्डियां टुट गयी थी | 


     उनके सर्जन ने बताया की अगर इस दुर्घटना में थोड़ी सी ओर चूक हो जाती तो वो हमेशा के लिए paralyze हो सकते थे और शायद जीवन में कभी नहीं चल पाते | 12 महीने तक Bear Grylls ने बिस्तर पर आराम किया और इस दौरान उन्हें आर्मी की सेवा को भी छोड़ना पड़ा | अपने इस बुरे दौर में उन्होंने अस्पताल से निकलने से पहले सोच लिया था कि उन्होंने जो गलतियॉ की वो किसी दूसरे के साथ नहीं होने देंगे और लोगों को survival tips देंगे | इसके साथ उन्होंने अपने बचपन के सपने माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने का विचार भी बना लिया था | Bear Grylls ने पैराशूट दुर्घटना में तीन रीढ़ की हड्डियां खोने के बाद भी अपना हौसला नही खोया और इस दुर्घटना के केवल 18 महीनों के बाद उन्होंने अपने बचपन का सपना पुरा कर दिखाया | Bear Grylls ने 16 मई को 1998 को माउंट एवरेस्ट पर चढ़कर लोगो को ये दिखा दीया की इंसान के हौसले बुलंद हो तो उन्हें कोई नहीं रोक सकता | केवल 23 साल की उम्र में माउंट एवरेस्ट पर चढ़कर bear सबसे युवा mountainer में से एक गिने जाने लगे | 



     2005 में Bear Grylls और उनके दोस्त के साथ मिलकर सबसे अधिक उंचाई 76000 मीटर पर डिनर पार्टी का आयोजन कर वर्ड रिकॉर्ड बनाया | 



     अपने इन कारनामो के बाद Bear ने कई टीवी सिरिज के जरिये survival tips बताते थे | आईये आपको उनके कुछ प्रमुख प्रचलित टीवी शो के बारे में विस्तार से बताता हुँ | Bear Grylls जिस शो के जरिये पुरी दुनिया में सबसे ज्यादा चर्चिल हुए थे, उस शो का नाम Man vs. Wild है | इस शो को ब्रिटेन में Born Survivor के नाम से टेलीकास्ट किया गया जबकि दूसरे देशों Australia, New Zealand, Canada, India और America में इसे Man vs Wild के नाम से Discover Channel पर प्रसारित किया गया | इस शो में Baer को  हर बार ऐसी उजाड़ और बीहड वाली जगहों पर भेजा गया, जहाँ आदमी का नामो निशान ना हो और इसमें Bear अपनेSurvival Tips के जरिये लोगो को ऐसे मुश्किल हालात से निकलने के tips देते है | यह शो 2006 से शुरू हुआ था और इसकी अपार लोकप्रियता के चलते इसके पिछले पांच ल

सालो में 7 सीजन आ चुके हैं |  


     तो दोस्तों कैसा लगा आपको Bear Grylls के जीवन के बारे में जानकर ? Comment में जरूर बताना और इस पोस्ट को अपने दोस्तों और फैमिली मेम्बर के साथ share जरूर करना | मिलते है और ऐसे ही एक motivational story में, तब तक के लिए जय हिंद वंदे मातरम् | 


No comments:

Post a comment